Indian Railway History in Hindi

 Indian Railway History in Hindi

चार न्यूजीलैंड जितनी आबादी हर रोज Indian Railway में सफर करती हैं | न्यूजीलैंड कि आबादी लगभग 49 लाख है | जब कि भारतीय रेलवे में हर रोज 2 करोड़ लोग सफर करते है | ऐसे ही कुछ Interesting facts और Indian Railway History आप जानेगे, हमारी इस पोस्ट Indian Railway History in Hindi में | हमारी भारतीय रेलवे का सफर काफी रोमांच भरा रहता है | भले ही कभी सफर में किसी समस्या का सामना करना पड़े या खडा होकर सफर करना पड़े | तो चलिए शुरू करते है, हमारी ये पोस्ट "Indian Railway History in Hindi". 

भारतीय रेलवे कि स्थापना कब हुई : भारतीय रेलवे कि स्थापना 8 मई 1845 में स्थापना हुई थी | हाला कि इस के 8 साल बाद 16 अप्रैल 1853 को भारत कि पहली रेल चली थी, जिस ने महज 34 किलोमीटर का सफर पूरा किया था | ये सफर मुंबई से ठाणे के बीच था | पर आप को यह बात जान कर बहुत हैरानी होगी, कि भारत कि पहली ट्रैन 1837 में मद्रास में चली थी | पर ये रेल कोई यात्री गाड़ी नही थी,बल्कि इस रेल का काम था,सड़क निर्माण के लिए पत्थरो को इक्क्ठा करना,और इस रेल के बाद कई बार इस तरह कि रेल चली पर भारत कि पहली यात्री रेल 1853 में मुंबई से ठाणे के बीच चली थी | इस रेल में कुल 400 यात्री थे | 
Indian railway history in hindi

भारतीय रेलवे का राष्ट्रीयकरण कब हुआ था : भारत मे अँग्रेजो के शासन काल के दौरान रेलवे का शुभारभ लार्ड डलहौजी ने किया था | परन्तु आजादी के बाद भारत को रेलवे का राष्ट्रीयकरण करना था | मतलब रेल विभाग के साथ साथ संपूर्ण रेलवे को भारत सरकार के अंतर्गत लाना था | भारत कि आजादी 42 साल पहले 1905 में भारतीय रेलवे बोर्ड कि स्थापना  गई थी | पर आजादी के 3 साल बाद यानि 1950 में भारतीय रेलवे का राष्ट्रीयकरण हुआ था | हमारी ये बेहतर पोस्ट भी  पढ़े IIT kya hai

 भारतीय रेलवे का बटवारा : जब भारत और पाकिस्तान का बटवारा 1947 में हुआ था तब सभी सरकार विभागो का बटवारा भी किया गया था | बटवारे का दर्द भारतीय रेल से अच्छा कौन जान सकता है | उस समय रेलवे ने दोनों देशो के यात्रीयो को उन के मुल्क तक पहुंचाया था | 1947 में ही भारतीय रेलवे का बटवारा भी भारत और पाकिस्तान में किया गया था | ये एक काफी जटिल काम था | 

भारतीय रेलवे का लोगो (LOGO ) : किसी भी कंपनी या किसी सरकारी विभाग कि साकेतिक पहचान असल में उस का लोगो ही होता है | भारतीय रेल विभाग का जाना-माना लोगो भारतीय रेलवे कि एक अलग पहचान है | कही नीले तो कही लाल रंग के गोले में भाप वाला एक रेल इंजन भारतीय रेल का इतिहास दर्शाता है | भारतीय रेल के इस लोगो पर भारतीय रेल विभाग का कॉपीराइट हैं इसलिए हम यहा इसकी इमेज नहीं दिखा सकते | हमारी ये बेहतर पोस्ट भी पढ़े Whatsapp se paise kaise kamaye

भारतीय रेलवे में कितने जॉन (मंडल) हैं : भारतीय रेलवे में कई स्टेशन है,कई लाख कर्मचारी है, और इतनी बड़े एक सरकारी विभाग को चलाना इतना आसान नही है | इस लिए भारतीय रेलवे के सही तथा व्यवस्थित संचालन के लिए भारतीय रेलवे को जॉन और डिवीजन में विभाजित किया गया है |भारतीय रेलवे में फिलहाल 17 जोन और 73 डिवीजन है | भारतीय रेल को पहले 17 जोन में बाटा गया है | फिर इन जोन को डिवीजन में बाटा गया है | रेलवे जोन के नाम  पश्चिम रेलवे और उत्तरी रेलवे जैसे होते है | भारतीय रेलवे के जोन का नाम उन कि दिशा के हिसाब से होता है,जैसे कि पश्चिम रेलवे भारत के पश्चिमी हिस्से में पड़ने वाले राज्यों के लिए रेल व्यवस्था को चलाता है
Indian railway history in hindi

भारतीय रेलवे में कितने कर्मचारी है : भारतीय रेलवे में 12.27 लाख कर्मचारी काम करते है | 1 मिलियन से ज्यादा सरकारी कर्मचारी के साथ भारतीय रेलवे भारत के सबसे बड़ा सरकारी विभाग है | भारतीय रेलवे रोजगार देने वाली सस्थाओ या  कंपनीयो में दुनिया में 9 वें क्रम पर है | मतलब भारतीय रेलवे अपने 12 लाख 27 हजार कर्मचारियो के साथ विश्व कि 9 वी सबसे बड़ी रोजगार देने वाले सस्था है | भारतीय रेलवे में लोकोमोटिव गार्ड (यानि ट्रैन ड्राईवर),स्टेशन मास्टर, गार्ड, सफाई कर्मचारी,DRM,सफाई कर्मचारी,सहायक,तथा इंजीनयर्स इत्यादि काम करते है | ये वो लोग है,जो हर रोज दो करोड़ से ज्यादा यात्रीयो और लाखो टन गुड्स का आवागमन सभव करते है |

भारतीय रेलवे का Mascot : Mascot भी लोगो कि तरह एक  अलग पहचान देने वाला होता है | Mascot का मतलब शुभंकर  (यानि गुड लक) होता है | किसी खिलौने, जानवर या अन्य किसी प्रकार को Mascot या Good Luck माना जाता है | ज्यादातर सभी बड़ी संस्थाओ के अपने Mascot है | भारतीय रेलवे का भी एक अपना अलग Mascot है | Indian Railway का Mascot एक हाथी है | ये हाथी एक रेलवे गार्ड कि ड्रेस में खडा हुआ आपको ज्यादातर रेलवे स्टेशन पर दिखाई देगा | इस हाथी Mascot के एक हाथ के ग्रीन लाइट है और इंडियन रेलवे के इस मैस्कॉट का नाम भोलु है | ये देखने में बहुत प्यारा है, इस लिए कुछ लोग इसे अप्पु भी कहते है | पर इस का असली नाम भोलु है |  हमारी यह बेहतर पोस्ट भी पढ़े Actor kaise bane 

Indian Rail Network :  भारतीय रेल नेटवर्क विश्व का सबसे बड़ा रेल नेटवर्क है | अगर साल 2020 के आकंड़ो पर नज़र डाली जाये तो भारतीय रेल नेटवर्क की लंबाई 67956 किलोमीटर है | भारतीय रेल नेटवर्क में कुल तीन तरह के रूट है , जिसमे  मीटर गेज ,नैरो गेज ,ब्रॉड गेज का समावेश होता है | भारतीय रेलवे का मुख्यालय नई दिल्ली मे है | भारत में कुल 11000 से अधिक trains है जिनमे से 8500 के लगभग ट्रेन हर रोज़ सफर करती है | भारतीय रेलवे में यात्रीगाड़ी ,मालगाड़ी और कई तरह की टैंकर गाड़ियों का समावेश होता है | भारत  रेलगाड़ी से  मालगाड़ी का इतिहास है | 

Indian railway Interesting facts :

  1. भारतीय रेलवे का इतिहास : भारतीय रेलवे की पहली यात्री गाड़ी 1853 में चली थी ,मतलब भारतीय रेलवे का इतिहास 168 साल पुराना है | 
  2. भारत की सबसे लम्बी रेलगाड़ी :वासुकी नाग भारत की सबसे लम्बी रेलगाड़ी है | इस रेल गाड़ी को चार रेल जोड़कर बनाया गया है | इसमें कुल 295 डब्बे और 5 इंजन है | यह कोई यात्री गाड़ी नहीं है | इसकी लम्बाई कुल 3. 5 किलोमीटर है | 
  3. डबल डेकर ट्रेन :गुजरात में साल 2020 में दुनिया  पहली डबल स्टैक कंटेनर (डबल  डेकर )ट्रैन चली थी | 
  4. विश्व का सबसे बड़ा रेलवे प्लेटफॉर्म :भारत ही नहीं बल्कि विश्व का सबसे बड़ा रेलवे गोरखपुर जंक्शन पर है |जिसकी लम्बाई 1. 3 किलोमीटर है |  
  5. विश्व  का सबसे बड़ा रेलवे स्टेशन :भारत  कर्नाटक राज्य का हुबली रेलवे स्टेशन विश्व का सबसे बड़ा रेलवे स्टेशन है | 
दोस्तों हमने अपनी इस पोस्ट India Railway History in Hindi को लिखने में काफी मेहनत की है इसलिए हमें यह उम्मीद है की आप को हमारी यह पोस्ट काफी पसंद आयी होगी |आज हमने आप को बताया भारतीय रेलवे कि स्थापना कब हुई,भारतीय रेलवे का राष्ट्रीयकरण कब हुआ था ,भारतीय रेलवे का बटवारा,भारतीय रेलवे का लोगो,भारतीय रेलवे में कितने जॉन (मंडल) हैं,भारतीय रेलवे में कितने कर्मचारी है,भारतीय रेलवे का Mascot,Indian Rail  Network ,INDIAN  RAILWAY INTERESTING  FACTS के बारे में और इतनी सारी अच्छी जानकारी पढ़कर आप को बहुत लगा अच्छा होगा | अगर आप को यह पोस्ट पसंद आयी हो  तो हमें कमेंट करके जरूर बतायेगा और पोस्ट को अपने दोस्तो के साथ शेयर भी कीजियेगा | अगर आप को इस पोस्ट में कोई कमी नज़र आती हो या आप हमें कोई सुझाव देना चाहते है तो हमें कमेंट करके बताइए हम आप के कमेंट का Reply 24 से भी कम समय में कर देंगे |धन्यवाद

  

  

   


 
WhatsApp

Aman vishal bhai singhal

नमस्कार दोस्तों I’मैं अमन इस ब्लॉग का ऑथर I’हु इस ब्लॉग में हम आपको कई I’तरह की जानकारी विस्तार से देंगे| यहाँ आपको लगभग हर क्षेत्र का ज्ञान मिलेगा| आप अपनी क्वेरीज़ हमें कमेंट करके पूछ सकते है हम आप को उसका जवाब जरूर देंगे|

  • Image
  • Image
  • Image
  • Image
  • Image
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 Comentarios:

एक टिप्पणी भेजें