Website Kaise Banaye

 जब भी हम किसी अच्छी वेबसाइट पर जाते तो हमारे मन यह बात जरूर आती है की वेबसाइट कैसे बनायें ? वेबसाइट बनाने वाले को web designer और web devloper कहते है | पर web designer और  web devloper में काफी फर्क होता है  | पर इस बारे में हम कभी और बात करेंगे | पर आज हम आप को वेबसाइट बनाने से जुड़ी जानकारी देंगे | वेबसाइट बनाना इतना आसान काम भी नहीं है, पर ये काम नामुनकिन नहीं है | अगर हम थोड़ी-सी मेहनत करके coading languages सीख ले तो हम अच्छी वेबसाइट बना सकते है | अगर आप बिना कोडिंग करे और सिर्फ 5 minute में अपनी वेबसाइट बनाकर पैसे कमाना चाहते है तो आप हमारी यह बेहतर पोस्ट भी पढ़े  Blog meaning in hindi 

Website कैसे बनाते है ?

वेबसाइट बनाने के लिए हमे दो field में काम  करना पड़ता है | पहली फील्ड है , front end और दूसरी फील्ड है back end | front end का मतलब है की हमें वेबसाइट का पेज डिज़ाइन करना पड़ता है यानि की वेबसाइट के पेज पर जो चीज़े हमें दिखायी देती है उन्हें हम front end कहते है | जैसे की टेबल ,इमेज ,नेविगेशन बार ,टाइटल ,पैराग्राफ | और backend end का मतलब है वेबसाइट के सर्वर पर काम करना |  back end को समझना काफी मुश्किल काम है पर मैं आप को यह बात एक example से समझाता हु | जब भी हम किसी वेबसाइट पर sign up करके नया अकाउंट बनाते है और जब हम उस वेबसाइट पर दोबारा जा कर log in करते  है तब हम अपना नाम नंबर पासवर्ड डालकर log in  बटन पर क्लीक करते है | तब वेबसाइट के सर्वर में यह प्रोसेस करके पता लगाया  क्या इस नाम नंबर पर कोई अकाउंट है या नहीं | और अगर है तो वेबसाइट उस यूजर का अकाउंट हमारे सामने लाती है | और यह सारा काम किया जाता है back end field में | 
Website Kaise Banaye


Coading क्या है ?

front end और  back end दोनों field में काम करते हुए हमें वेबसाइट बनानी होती है | पर दोनों  फील्ड के लिए हमें  कोडिंग करनी पड़ती है | कोडिंग का आसान सा मतलब होता है की जिसमे हम coading languages के अलग अलग codes  text editor software में  लिख कर एक वेबसाइट बनाते है |  और फिर हम उस वेबसाइट को अपने किसी ब्राउज़र में खोलते है जैसे की क्रोम ब्राउज़र | अगर आप को नहीं पता है  कोडिंग क्या की या code languages क्या है तो आप के लिए यह codes देखने में काफी अजीब होंगे | जब हम अलग अलग codes का यूज़ करके एक वेबसाइट बनाते है तब उसे कोडिंग कहते है | इस कोडिंग का यूज़ हम front end और back end दोनों में करते है |

Coading कैसे करते है ?  

कोडिंग करने के लिए हमारे पास एक कंप्यूटर या लैपटॉप होने चाहिए | और उसके साथ ही हमारे पास  इंटरनेट कनेक्शन होने चाहिए | कोडिंग करने के लिए हमारे डिवाइस में कोई भी अच्छा text editor सॉफ्टवेयर होना चाहिए | जैसे की notepad ,notepad ++, vs codeपर यह सारे ही softwares बिलकुल ही फ्री है | पर हम आप को सबसे बेस्ट सॉफ्टवेयर बताते है कोडिंग करने के लिए | कोडिंग करने के सबसे बेस्ट सॉफ्टवेयर है vs code,क्योकि vs code ही सबसे आसान और अच्छा सॉफ्टवेयर है |vs code यह माइक्रोसॉफ्ट का ही एक सॉफ्टवेयर है |  
Website kaise banaye


 वेबसाइट बनाने  या कोडिंग करने के लिए सबसे जरुरी चीज़ है coading languages | वेबसाइट बनाने के लिए कई सारी code language उपलब्ध है | हम इन सभी code languages का यूज़ करके अच्छी तरह करके अपनी बेहतर वेबसाइट बना सकते है | और हर  coading language का अपना  महत्व है | हर एक code language हमारे काम को आसान बनाती है | कुछ code languages का यूज़ है वेबसाइट के front end में | और कुछ code languages  है, वेबसाइट के back end में |पर हमें पहले वेबसाइट के front end field वाली languages को सीखना चाहिए | whatsapp से पैसे कमाने के बारे में शायद आप ने आज से पहले कभी नहीं सुना होगा पर यदि आप whatsapp से पैसे कमाना चाहते है तो हमारी यह बेहतर पोस्ट भी पढ़े Whatsapp se paise kaise kamaye

Coading languages 

Coading की दुनिया में कई सारी coading languages है | और यह ही सारी coading languages ही हमारी फेवरेट वेबसाइट को बनाती है | पर ऐसा भी  जरुरी नहीं है की हमें सभी coading languages को सीख कर ही वेबसाइट बनाना आएगा | हमें वेबसाइट का front end डिज़ाइन करना है या फिर हमें उसके साथ ही हमें back end भी सीखना है यह ही सारी बाते तय करती है की हमें कौन सी कौन सी coading languages सीखनी है |  अब हम आप को कुछ  coading languages के बारे में बताते है | html ,css ,javascript ,c language ,sql ,php ,core java ,j query ,xml ,ruby ,ada यह सभी popular  coading languages है | वेबसाइट बनाने के लिए आप को सारी coading languages सीखने की जरुरत नहीं है | आप बस अपनी जरूरत की coading languages सीख सकते है | अगर आप इन में से कुछ जरुरी coading languages भी सीख ले तो आप अच्छी वेबसाइट बना सकते है | आगे हम अपनी इस पोस्ट में आप को कुछ coading languages के बारे में आप को बताएँगे | पर हम आप को अभी सिर्फ front end coading languages के बारे में ही बताएँगे | क्योकि back end सीखने से पहले हमें front end सीखना पड़ता है | आप को पहले पूरी तरह से front end सीखना पड़ेगा , कुछ main front end coading languages के बारे में बताने जा रहे है | 

Html 

html का मतलब है hyper text markup language  | वेबसाइट का स्ट्रक्चर यानि की ढांचा बनाने में html का यूज़ किया जाता है |जैसे की टेबल ,navbar ,image ,sidebar यह सारे एलिमेंट्स वेबसाइट में html का यूज़ करने से ही आते है | html एक काफी अच्छी coading languages है | हम काफी आसानी से html को सीख सकते है | html पर वेबसाइट ठीक उसी तरह से आधारित है जैसे की हमारा शरीर हमारी हड्डियों पर आधारित है | जब भी हम html की कोई फाइल किसी text editor सॉफ्टवेयर  लिखते है तब  उस फाइल को सेव करते हुए उसके नाम के पीछे . html लिख कर सेव करते है ताकि हमारा browser ही यह समझ सके की यह डॉक्यूमेंट html में लिखा गया है |

Css 

जैसे हमारे शरीर को सुन्दर बनाने के लिए हमारे शरीर पर स्किन है ठीक वैसे ही css से हम html से बनी अपनी वेबसाइट को सुन्दर बनाते है |अपनी website को आकर्षक बनाने के लिए css का यूज़ किया जाता है | इसके लिए हम वेबसाइट की coading में css coading language का यूज़ करते है | css का मतलब cascading spread sheet है | css का यूज़ करके html  वाले ढांचे को अच्छा बनाया जाता है | css का यूज़ तीन तरह से किया जाता है | (1 ) inpage  css :इसमें हम html वाले पेज के अंदर ही css को लिखते है | (2 )external css : इसमें हम css की अलग से फाइल बनाकर उसके नाम के पीछे हम css लिखते है | और उस फाइल का लिंक हम hrml वाली file के अंदर देते है | (3 ) inline css :इसमें हमें जिस एलिमेंट में css का यूज़ करना है हम उसी एलिमेंट की लाइन में css  ( यहाँ जिस जिस जगह css लिखते है लिखा गया है उसका मतलब है css codes का यूज़ ) लिखते है |


javascript   

जावास्क्रिप्ट भी एक काफी अच्छी coading language है | इस जावास्क्रिप्ट लैंग्वेज के काफी सारे यूज़ है | यह जावास्क्रिप्ट वेबसाइट में लॉजिक लगाने के लिए यूज़ की जाती है |जैसे की example के तौर पर मैं आप को pop up notification के बारे में बताता हूँ  | जा भी हम यह चाहते है की हमारी वेबसाइट पर कोई नया यूजर आये तो उसे हमारी वेबसाइट पर एक pop up notification दिखाई दे तो यह काम हमारे लिए जावास्क्रिप्ट language करती है | जावास्क्रिप्ट का यूज़ करके mobile app भी बनाये जाते है | वेबसाइट बनाने के बारे में तो आप जान गए है पर अब आप को seo भी सीखना पड़ेगा ताकि आप की वेबसाइट google पर रैंक कर सके seo क्या है यह जानने के लिए आप हमारी यह पोस्ट भी पढ़े  seo kya hai

Web hosting 

web hosting वो सर्विस है जिससे हम अपनी वेबसाइट को इंटरनेट पर ले कर आते है | हम अपनी वेबसाइट के codes या अन्य सारी सामग्री को web hosting वेबसाइट पर डालते है फिर वो हमसे कुछ पेमेंट के बदले में हमें web hosting सर्विस देकर हमारी वेबसाइट को इंटरनेट पर लाते है | साथ ही web होस्टिंग हमारी वेबसाइट का डाटा भी स्टोर करके हमारी वेबसाइट को स्टोरेज प्रदान करती है | हम अपनी वेबसाइट के लिए अच्छी web hosting go dady ,hostinger,hostgator से ले सकते है | web hosting internet पर हमारी वेबसाइट को एक प्लेटफॉर्म प्रदान करती है |  


Domain name 

हर एक वेबसाइट का एक domain name होता है जैसे की xyz ,com ,org ,net ,in | यह सभी एक domain name है | domain name का मतलब हमारी वेबसाइट का नाम या एड्रेस है | इंटरनेट पर मौजूद हर एक वेबसाइट का अपना एक ip adress है ,और यह ip adress एक नंबर होता है | वेबसाइट का domain name एक तरह से वेबसाइट का ip adress ही है | वेबसाइट का ip adress काफी अजीब होता है जैसे की 1256 7877 7436 | हमें किसी वेबसाइट तक जाने के लिए यह ip adress याद् ना  रखना पड़े इसलिए ही यह domain name बनाये गए है | हम doamin name go dady ,hostinger ,hero hosty ,hostgator से ले सकते है |  

Website kaise banaye
दोस्तों हमें यह उम्मीद है की आप को हमारी यह पोस्ट "website kaise banaye" काफी पसंद आयी होगी | अगर आप को हमारी यह पोस्ट पसंद आयी हो तो आप हमें कमेंट करके जरूर बताये | साथ ही इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करे | धन्यवाद् | 
WhatsApp

Aman vishal bhai singhal

नमस्कार दोस्तों I’मैं अमन इस ब्लॉग का ऑथर I’हु इस ब्लॉग में हम आपको कई I’तरह की जानकारी विस्तार से देंगे| यहाँ आपको लगभग हर क्षेत्र का ज्ञान मिलेगा| आप अपनी क्वेरीज़ हमें कमेंट करके पूछ सकते है हम आप को उसका जवाब जरूर देंगे|

  • Image
  • Image
  • Image
  • Image
  • Image
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 Comentarios:

एक टिप्पणी भेजें